Sunday, July 16, 2017

नपा का टेंकर घोटाला: मुन्ना की टीम आउट, अब कलेक्टर की टीम करेंगी घोटाले की जांच

शिवपुरी। कलेक्टर तरूण राठी ने नगरपालिका के पानी के टैंकरों के घोटाले की जांच हेतु तीन सदस्यीय उच्चस्तरीय कमेटी गठित की है। कमेटी में जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी नीतू माथुर, शहरी विकास प्राधिकरण के परियोजना अधिकारी श्री पांडे और लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के कार्यपालन यंत्री एसएल बाथम शामिल हैं जिन्हें जांच कर रिपोर्ट देने का जिम्मा सौंपा गया है। 

जांच कमेटी की रिपोर्ट के बाद ही टैंकरों के जरिए पेयजल सप्लाई किए जाने का भुगतान होगा। कमेटी गठित होने से टैंकर घोटाले के कथित आरोपियों में हडक़ंप व्याप्त हो गया है। इसके साथ ही नपाध्यक्ष मुन्नालाल कुशवाह द्वारा टैंकर घोटालों की जांच के लिए गठित पार्षदों की समिति अप्रासंगिक बन गई है क्योंकि मुख्य सवाल यह था कि भ्रष्टाचार और घोटाले में पार्षद शामिल हैं और पार्षदों की समिति बनाकर मामले को रफा दफा किया जा रहा था।  

शिवपुरी विधायक और प्रदेश सरकार की मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने इस ग्रीष्मऋतु में नगरपालिका द्वारा शहर की पेयजल आवश्यकताओं की पूर्ति हेतु लगाए गए टैंकरों के भाड़े में हुए फर्जीवाड़े की जांच के आदेश दिए थे। यशोधरा राजे ने उक्त आदेश मुख्य नगरपालिका अधिकारी रणवीर कुमार को लिखित रूप में देते हुए कहा था कि उच्चस्तरीय टीम बनाकर टैंकर घोटालों की जांच कराई जाए और टीम की रिपोर्ट के बाद ही पानी सप्लाई का भुगतान किया जाए। मजे की बात तो यह है कि टीम गठित करने के लिए यशोधरा राजे ने लिखित रूप से सीएमओ को आदेशित किया गया था लेकिन सीएमओ के स्थान पर नगरपालिका अध्यक्ष ने पार्षदों की टीम बना दी। 

No comments:

Post a Comment

प्रतिक्रियाएं मूल्यवान होतीं हैं क्योंकि वो समाज का असली चेहरा सामने लातीं हैं। अब एक तरफा मीडियागिरी का माहौल खत्म हुआ। संपादक जो चाहे वो जबरन पाठकों को नहीं पढ़ा सकते। शिवपुरी समाचार आपका अपना मंच है, यहां अभिव्यक्ति की आजादी का पूरा अवसर उपलब्ध है। केवल मूक पाठक मत बनिए, सक्रिय साथी बनिए, ताकि अपन सब मिलकर बना पाएं एक अच्छी और सच्ची शिवपुरी। आपकी एक प्रतिक्रिया मुद्दों को नया मोड़ दे सकती है। इसलिए प्रतिक्रिया जरूर दर्ज करें।