Friday, July 14, 2017

मानवता फिर शर्मसार: सीमा विवाद में 5 घण्टे रोड़ पर पड़ी रही महिला की लाश

अभिषेक शर्मा पोहरी। जिले के पोहरी अनुविभाग के छर्च और सेसईपुरा थाना क्षेत्र में आज सुबह एक सडक़ दुर्घटना में एक महिला की मौत हो जाने के मामले में एक बार फिर मानवता शर्मसार दिखाई दी। दोनो थाने की पुलिस इस मामले में सीमा विवाद में उलझी रही। परंतु इन दोनों के विवाद के बीच महिला की लाश रोड़ के किनारे पांच घण्टे तक पड़ी रही। इस बात की सूचना फिर डायल 100 को दी गई। जहां डायल 100 के साथ सेसईपुरा थाना प्रभारी मौके पर पहुंचे लेकिन लाश को उठाना तक मुनासिब समझा उसके बाद छर्च थाना प्रभारी मौके पर पहुंचे और महिला की लाश को उठाकर लेकर आए। 

जानकारी के अनुसार सुबह 7 बजे बासरिंया गांव के पास कस्तूरी बाई पत्नि सीताराम आदिवासी उम्र 55 वर्ष बासंरैया अपने घर से सुबह निकली हुई थी तभी मौड़ पर किसी अज्ञात वाहन ने महिला को टक्कर मार दी। जिससे महिला की मौके पर ही मौत हो गई। इस मामले की सूचना स्थानीय लोगों ने छर्च थाना पुलिस को दी। जहां पुलिस मौके पर पहुंच तो गई परंतु उसने उक्त घटना स्थल को छर्च थाना क्षेत्र में बताते हुए उक्त महिला को उठाना तक मुनासिब नहीं समझा। उक्त दोनों की सीमा विबाद के चलते लगभग 5घण्टे तक महिला की लाश रोड़ पर ही पड़ी रही और सेसईपुरा थाना प्रभारी रतिराम गुर्जर इस लाश को देखकर अपने साथियों के साथ गप्पे लडाने में लगे रहे। 

उक्त घटना के 5 घण्टे बाद छर्च थाना प्रभारी को इस घटना की सूचना मिली और वह मौके पर पहुंचे। जहां जाकर थाना प्रभारी छर्च दिनेश सिंह राजपूत उक्त महिला की लाश को उठाकर लेकर आए। बताया गया है बासरैया गांव श्योपुर जिले की सीमा में ही आता है। अगर नहीं भी आता तो भी थाना प्रभारी की इतनी जबाब दारी तो थी कि वह उस लाश को उठवाकर पीएम करा सके उसके बाद सीमा निधारित कर मामला जिस थाने का होता उसमें दर्ज कर सके।

इनका कहना है-
उक्त घटनास्थल सेसईपुरा थाने में आता है उसके बाद भी हमें 1 बजे सूचना मिली थी और हम उक्त महिला की लाश को लेकर पीएम करा दिया है। अब यह तो बाद में स्पष्ट होगा कि मामला कौन से थाने का है। 
दिनेश राजपूत, थाना प्रभारी छर्च

No comments:

Post a Comment

प्रतिक्रियाएं मूल्यवान होतीं हैं क्योंकि वो समाज का असली चेहरा सामने लातीं हैं। अब एक तरफा मीडियागिरी का माहौल खत्म हुआ। संपादक जो चाहे वो जबरन पाठकों को नहीं पढ़ा सकते। शिवपुरी समाचार आपका अपना मंच है, यहां अभिव्यक्ति की आजादी का पूरा अवसर उपलब्ध है। केवल मूक पाठक मत बनिए, सक्रिय साथी बनिए, ताकि अपन सब मिलकर बना पाएं एक अच्छी और सच्ची शिवपुरी। आपकी एक प्रतिक्रिया मुद्दों को नया मोड़ दे सकती है। इसलिए प्रतिक्रिया जरूर दर्ज करें।