Wednesday, June 21, 2017

प्याज के समर्थन मूल्य पर बिक्री के चलते अब प्याज के रकबे का मिलान खसरा-खतौनी से होगा

शिवपुरी। राज्य शासन द्वारा घोषित समर्थन मूल्य पर जिले में किसानों द्वारा बेची जा रही प्याज के सत्यापन हेतु कृषक द्वारा रवी सीजन 2017 में बोए गए गेहूं के रकबे एवं उपार्जन केन्द्र पर बेचे गए गेहूं का और बोई गई प्याज के रकबे के संबंध में किसान को स्वघोषणा पत्र देना होगा। जिसका पटवारी द्वारा खसरा-खतौनी एवं ऋण पुस्तिका से मिलान किया जाएगा। 

कलेक्टर तरूण राठी ने इस संबंध में जिले के सभी अनुविभागीय दण्डाधिकारियों को निर्देश दिए गए है। खसरा-खतौनी के मिलान के दौरान ऐसे लोग जिनके द्वारा प्याज की फसल नही बोई गई है, लेकिन उनके द्वारा उर्पाजन केन्द्रों पर प्याज लाई जा रही है, उनके विरूद्ध कार्यवाही की जाए। कलेक्टर तरूण राठी ने किसानों से प्याज खरीदी की प्रतिदिन की जानकारी देने हेतु सहायक संचालक उद्यान आर.बी.शर्मा को नोडल अधिकारी बनाया गया है और निर्देश दिए गए है कि शासन द्वारा घोषित समर्थन मूल्य पर प्याज की खरीदी की केन्द्रवार प्रतिदिन की जानकारी जिलाधीश कार्यालय को देंगे। 

जिले की सीमा से लगे स्थानों से आने वाली प्याज पर पूर्णत: प्रतिबंध लगा दिया गया है। सीमा में आने वाले वाहनों की सघन जांच हेतु अधिकारियों की टीम गठित की गई है। बाहर से प्याज लाने वाले वाहनों एवं ट्रेक्टर-ट्रोलियों के विरूद्ध कार्यवाही की जाएगी। इसी प्रकार जिले में स्थित चेक पोस्टों पर भी प्याज लेकर आने वाले वाहनों की सघन जांच कर कार्यवाही की जाएगी। 

No comments:

Post a Comment

प्रतिक्रियाएं मूल्यवान होतीं हैं क्योंकि वो समाज का असली चेहरा सामने लातीं हैं। अब एक तरफा मीडियागिरी का माहौल खत्म हुआ। संपादक जो चाहे वो जबरन पाठकों को नहीं पढ़ा सकते। शिवपुरी समाचार आपका अपना मंच है, यहां अभिव्यक्ति की आजादी का पूरा अवसर उपलब्ध है। केवल मूक पाठक मत बनिए, सक्रिय साथी बनिए, ताकि अपन सब मिलकर बना पाएं एक अच्छी और सच्ची शिवपुरी। आपकी एक प्रतिक्रिया मुद्दों को नया मोड़ दे सकती है। इसलिए प्रतिक्रिया जरूर दर्ज करें।