Saturday, June 10, 2017

शकुंतला खटीक पर एफआईआर दर्ज करने शिवसेना बैठी धरने पर

करैरा। मंदसौर किसान आंदोलन के समर्थन में जिला और कांग्रेस द्वारा गुरुवार को जिला बंद की कोशिश के दौरान करैरा में कांग्रेस विधायक शकुंतला खटीक की पुलिस से झड़प हो गई। दरअसल, पुलिस ने मुख्यमंत्री के पुतले को जलने से रोकने के लिए उस पर फायर बिग्रेड से पानी डलवाया, जिससे विधायक भींग गईं। इससे उनका पारा चढ़ गया। 

उन्होंने न सिर्फ पुलिस अधिकारियों को खरीखोटी सुनाई बल्कि टीआई करैरा संजीव तिवारी के साथ अभद्रतापूर्वक व्यवहार किया। विधायक ने भीड़ को उकसाया, समर्थक मान लेते तो करैरा मंदसौर बन जाता। आज शिवसेना सहायता केंद्र तिराहे पर धरने पर बैठ गयी है। पं. पुष्पेंद्र मिश्रा ने बताया कि थाना या कोई भी शासकीय कार्यालय हो यह हमारी संपत्ति है जनता द्वारा भरे गए टेक्स से ही इनका निर्माण हुआ है।

विधायक द्वारा थाने को आग लगाने के लिए जनता को भडक़ाना निंदनीय है हम इसकी घोर निंदा करते है। ओर विधायक पर एफआईआर दर्ज कराने की मांग को लेकर हम आज से धरना दे रहे है। यदि 2 दिवस में करवाई नही होती है तो शिवसेना पूरे मध्यप्रदेश में आंदोलन करेगी धरना देगी और विधायक पर करवाई करवाएगी। 

अवसर पर हरिओम तिवारी मंत्री, राजेश्वर दुबे, उप ब्लाक प्रमुख प.दिनेश बोहरे, नगर प्रमुख विनय मिश्रा, उप प्रमुख अशोक नामदेव, मीडिया प्रभारी हिमांशु पाठक, नगर सयोजक गौरव सक्सेना, नगर प्रमुख प्रशांत त्रिपाठी, उप प्रमुख सत्यम गुप्ता, मिडिया प्रभारी लव सक्सेना, आनंद राजपूत, मनीष पाल, छोटू दुबे, रामू भटेले,अन्नू,बसंत सहित सेंकडो शिवसैनिक मौजूद थे।