Friday, June 02, 2017

बिजली विभाग: आंकलित खपत के नाम पर थोप रहे है मनमाना बिल

पोहरी। जिले के पोहरी तहसील में बिजली विभाग की मनमानी इतनी बढ़ गई है कि लोगो की परेशानियां बढ़ती जा रही है जहा अपने बिलो को लेकर लोग लगातार विभाग के चक्कर काट रहे है। जहाँ उनकी कोई सुनबाई नही की जा रही है बही दूसरी तरफ पोहरी तहसील में इस समय सूर्यदेव रोद्र रूप धारण कर 44 का पारा मेंटन कर रहे है। 

ऊपर से बिजली की अघोषित कटौती ने लोगों को परेशान कर रखा है। जिससे शहर के हालात बिगड़ते जा रहे है। शासकीय तथा अर्धशासकीय कार्यालयों के साथ-साथ उद्योगों पर भी इसका विपरीत असर पड़ रहा है। बिजली विभाग द्वारा किसी भी समय बिजली कटौती कर दी जाती है। 

ऐसी स्थिति में परेशान लोग जब बिजली सुधरवाने के लिए भोपाल कॉल सेंटर पर फोन करते हैं तो उनसे आर्ईबीआरएस नंबर मांगा जाता है और जब वह मैच नहीं करता तो उनकी शिकायत दर्ज नहीं की जाती है। ऐसी स्थिति में नगरवासी काफी परेशान हैं। विदित हो कि बिजली कंपनी प्री मानसून मेंटीनेंस के कारण शहर के अलग-अलग इलाकों में बिजली कटौती बिना कोर्ई सूचना के कर रही है। जिन स्थानों पर मेंटीनेंस का कार्य किया जाता है उन स्थानों के साथ-साथ शहर के अन्य भागों की भी बिजली सप्लार्ई रोक दी जाती है। 

मनमाने बिलो से लोगो को हो रही परेशानी..........
बिजली विभाग द्वारा अघोषित बिद्युत कटौती कर लोगों को परेशान किया जा रहा है वहीं दूसरी ओर गर्मियों का हवाला देकर उन्हें आंकलित खपत के बिल थमाए जा रहे हैं। जिससे नगरवासी काफी परेशान हैं। जबकि आंकलित खपत न देने का न्यायालय से भी आदेश मिल चुका है। इसके बाबजूद भी विभाग न्यायालय के आदेश की अवहेलना करने में कोई कसर भी नहीं छोड़ रहा है। पहले उपभोक्ताओं को आंकलित खपत के रूप में जो बिल थमाए जा रहे थे उन्हें बढ़ा कर अब दुगना कर दिया है। जिससे उपभोक्ताओं पर अतिरिक्त भार आ गया है और बिलों में संशोधन कराने के लिए वह दिन भर अपना काम छोडक़र बिजली अधिकारियों के चक्कर लगा रहे हैं।

इनका कहना है
मेरे पास कोई जानकारी नही आई अब तक अगर किसी उपभोक्ता को शिकायत है तो दिखवा लेंगे।
विजय सोनी जेई पोहरी