Saturday, June 10, 2017

छत्तीसगढ़ से भागी युवती शिवपुरी में मिली, परिजनों को सौंपा

शिवपुरी। चाईल्ड लाईन और बाल कल्याण समिति ने छत्तीसगढ़ के सूरजपुर की युवती आशामती पुत्री चरण सिंह को उसके पिता के सुपुर्द कर दिया। अपनी पुत्री को लेने चरण सिंह छत्तीसगढ़ से शिवपुरी आया था। बताया जाता है कि घर में विवाद के बाद आशामती भाग निकली थी और उसे बामौरकला के ग्राम ऐरावन में लावारिस हालत में बरामद किया गया था। 

जानकारी के अनुसार विगत दिवस बामौरकला पुलिस को एक 15 वर्षीय युवती लावारिस हालत में घूमती हुई मिली। युवती ने बताया कि वह ट्रेन में सवार होकर छत्तीसगढ़ से आई है और भटकते-भटकते ग्राम ऐरावनी आ गई। पुलिस ने उक्त युवती को चार्ईल्ड लाईन के सुपुर्द कर दिया और चाईल्ड लाईन की टीम ने काउन्सलिंग कर किशोरी के परिजनों का पता लगाया। 

युवती ने बताया कि  उसके माता पिता जब घर में नहीं थे तो उसका विवाद अपने भाई और बहिनों से हो गया जिससे नाराज होकर वह ट्रेन में बैठकर भोपाल आर्ई और इसके बाद चंदेरी होते हुए ग्राम ऐरावनी पहुंच गर्ई। चार्ईल्ड लाईन की टीम ने जब उससे पूछताछ की तो उसने बताया कि उसके पिता का नाम चरण सिंह और माता का नाम मानकुंअर है और वह सूरजपुर जिले के कसकेला गांव की रहने वाली है।

इसके बाद चाईल्ड लार्ईन की टीम का संपर्क सूरजपुर कन्ट्रोल रूम से हुआ जिसके जरिये कसकेला के थाना प्रभारी प्रताप सिंह ठाकुर से बातचीत की गर्ई तब उसके परिजनों का पता चला।