Friday, June 30, 2017

सर्विस प्रोवाईडर लगा रहे है शासन को चूनाा, खाली भूमि बताकर करा दी दो मंजिला भवन की रजिस्ट्री

पिछोर। इन दिनों उपरजिस्ट्रार कार्यालय पिछोर में सर्विस प्रोवाईडर भूमि क्रेता- विक्रेता से मिलीभगत कर से लाखों के राजस्व को क्षति पहुंचा रहे है। जानकारी अनुसार उप पंजीयक कार्यालय पिछोर क्षेत्र में कार्यरत रजिस्ट्री लेखक नवीन जैन ने क्रेता पुष्पांश तथा गिर्राज पुत्रगण बृजेश कुमार दुबे आरक्षक तथा विक्रेता बृजलाल कुश्वाहा, रामरतन कुशवाह पुत्रगण हरनारायण कुशवाह से मिलकर स्टांप ड्यूटी चोरी करने की नियत से दिनांक 25 मई 2017, पंजीयन क्रमांक 392932617 ए- 272486 पर स्थित भूमि पिछोर वार्ड क्र. 1, भूमि सर्वे नं. 373 रकवा 0.060 हे. केे 2403 वर्गफुट का विक्रय पत्र अनुबंध करा दिया।

जबकि उक्त भू-भाग पर पूर्व से ही दो मंजिला मकान निर्मित है। विक्रय पत्र में अन्य खाली जगह के फोटो खिचाकर लगा दिया गये है। नियम अनुसार स्टॉप शुल्क निर्मित दो मंजिला भवन के हिसाब से लगनी थी। उक्त प्रकरण जब उप पंजीयक अधिकारी नजीर खॉन की संज्ञान में आया तो उन्होने उक्त मामले की जांच कर कार्यवाही का आश्वासन दिया।  

कार्यालय समय समाप्त के बाद होती है बसूली
उप पंजीयक कार्यालय में सर्विस प्रोवाईडरों की मिली भगत से विक्रय पंजीयन पत्र देरी से कार्यलय में जमा कराया जाता है जब कार्यालय समय समाप्त होने को होता है तो कार्य अधूरा छूटने के बदले क्रेता-विक्रेता से साहब को पैसे देने की कहकर दो से पांच हजार रूपये तक अतिरिक्त बसूले जाते है। उक्त कारनामा देर सांम तक पंजीयन कार्यालय में होते देखा जा सकता है। 

10 का स्टॉप 20 में तो 100 का 150 मेे मिलता है
सर्विस प्रोवाईडरों द्वारा इन दिनों 10 का स्टॉप 20 में, 50 का स्टॉप 100 में तथा 100 का 150 में 500 का 550 में दिया जा रहा है जिसकी कईवार शिकायत पंजीयक कार्यलय को मिल सकी है किन्तु प्रशासनिक उदासीनता के चलते इन पर कार्यवाई शून्य वनी हुई है। 

No comments:

Post a Comment

प्रतिक्रियाएं मूल्यवान होतीं हैं क्योंकि वो समाज का असली चेहरा सामने लातीं हैं। अब एक तरफा मीडियागिरी का माहौल खत्म हुआ। संपादक जो चाहे वो जबरन पाठकों को नहीं पढ़ा सकते। शिवपुरी समाचार आपका अपना मंच है, यहां अभिव्यक्ति की आजादी का पूरा अवसर उपलब्ध है। केवल मूक पाठक मत बनिए, सक्रिय साथी बनिए, ताकि अपन सब मिलकर बना पाएं एक अच्छी और सच्ची शिवपुरी। आपकी एक प्रतिक्रिया मुद्दों को नया मोड़ दे सकती है। इसलिए प्रतिक्रिया जरूर दर्ज करें।