Saturday, June 10, 2017

नाले की सफाई को लेकर पार्षद और शिक्षक भिड़े, पथराव

शिवपुरी। प्रदेश शासन की मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया के निेर्र्देश पर नाला सफाई करबा रहे भाजपा नेताओं को दूसरे पक्ष द्वारा किए गए हमले का सामना करना पड़ा। विवाद इतना उग्र हुआ कि लाठियां निकल आई और आरोप है कि शिक्षक पुरूषोत्तम धाकड़ के परिजनों ने पार्षद मनीष गर्ग मंजू और नगर पालिका अमले पर पथराव भी किया।हालात इतने उग्र हो गए कि मौके पर तहसीलदार एवं पुलिस फोर्स की आमद हो गई। जिसके चलते स्थिति काबू में आई और नाला सफाई का कार्य फिर निर्विध्न संपन्न हो सका। घटना स्थल पर उग्र स्थिति के चलते सैकड़ों लोग जमा हो गए थे। 

हुआ यह कि बस स्टेण्ड रोड़ पर स्थित जैन मंदिर के सामने वाली नाली जाम थी। नाला सफाई का काम कर रहे पार्षद मनीष गर्ग ने जब हिटैची से नाली के ऊपर रखे पत्थर हटाना चाहे तभी वहां उन्हें शिक्षक पुरूषोत्तम धाकड़ ने नाली साफ करने से रोका और फिर देखते ही देखते उग्र विवाद होने लगा। 

शिक्षक धाकड़ का कहना था कि जेसीबी से उनका मकान हिलने लगा था। जबकि आसपास के रहने वाले लोगों का कहना  है कि बीते वर्ष श्री धाकड़ के द्वारा नाले की मोरियों का मुंह बंद करने की बजह से पुराने बस स्टेण्ड से लगी दुकानें और मकान पानी में डूब गए थे। पार्षद मनीष गर्ग का कथन है कि इसके बाद शिक्षक और उनके सहयोगियों ने लाठियां निकाल ली तथा उन्हें मारने के  लिए दौड़े। जब वह भागे तो उन्होंने पथराव शुरू कर दिया। स्थिति गंभीर देख कर किसी ने पुलिस को बुला लिया और बाद में तहसीलदार व पुलिस ने दोनों पक्षों को अलग कर नाली की सफाई कराई।

नाली अबरूद्ध होने से मंदिर में भर जाता था पानी
जैन मंदिर से नाले में आने वाली नाली के अबरूद्ध होने से बरसात में गंदे नाले का पानी मंदिर में प्रवेश कर जाता था। मंदिर बाले और श्रद्धालु उनसे लगातार नाली साफ करने की गुहार लगा रहे थे। इसी लिए अबरूद्ध नाली को साफ किया जा रहा था।