Wednesday, June 28, 2017

अस्पताल के गेट में फिर फंसा महिला का पैर, आधे घण्टे तडपती रही

शिवपुरी। अव्यवस्थाओं से जंग लड़ रहे शहर के लिए नर्क बने जिला चिकित्सालय में आज फिर गेट पर स्थिति लोहे के पाईपों में एक महिला का पैर फंस गया। आधे घंटे तक फंसे महिला को बमुश्किल लोगो ने पाईपों को चोड़ाकर निकाला। तब महिला की जान में जान आई। जानकारी के अनुसार कुसुम पत्नि विजय परिहार उम्र 47 वर्ष निवासी मंशापूर्ण मंदिर बीते वर्ष अपने बेटे चिराग का इलाज कराने जिला चिकित्सालय आई हुई थी। 

आज दोपहर महिला अपने बेटे के लिए दूध लेने अस्पताल के बाहर जा रही थी। तभी गेट पर निकलते समय महिला का पेर गेट में फंस गया। महिला ने इसे निकालने का भरसक प्रयास किया। परंतु महिला के पैर फंसा ही रहा। जिसे जिला चिकित्सालय में तैनात सुरक्षा गार्डों ने और पुलिस के आरक्षक अतुल ने उसे निकाल लिया। 

ऐसा नहीं है कि उक्त घटना पहली हो इससे पहले भी एक मासूम का पैर इस गेट में फंस गया था। जिसे बमुश्किल गेट को काटकर निकाला था। उसके बाद भी आज तक उक्त गेट पर कोई भी ऐसी व्यवस्था नहीं की गई है जिससे लोगों के पैर फंसने की घटना रूक सके। इस घटना में महिला के पैर में चोट आई है।

No comments:

Post a Comment

प्रतिक्रियाएं मूल्यवान होतीं हैं क्योंकि वो समाज का असली चेहरा सामने लातीं हैं। अब एक तरफा मीडियागिरी का माहौल खत्म हुआ। संपादक जो चाहे वो जबरन पाठकों को नहीं पढ़ा सकते। शिवपुरी समाचार आपका अपना मंच है, यहां अभिव्यक्ति की आजादी का पूरा अवसर उपलब्ध है। केवल मूक पाठक मत बनिए, सक्रिय साथी बनिए, ताकि अपन सब मिलकर बना पाएं एक अच्छी और सच्ची शिवपुरी। आपकी एक प्रतिक्रिया मुद्दों को नया मोड़ दे सकती है। इसलिए प्रतिक्रिया जरूर दर्ज करें।