Sunday, May 14, 2017

पब्लिक पार्लियामेंट : प्रशासन की सदबुद्धि के लिए सिंध का पानी लाकर किया शिवजी का अभिषेक

शिवपुरी। शहर के लिए इंतजार का पर्याय बन चुकी सिंध जल आवर्धन योजना में परेशानीयां घटने का नाम ही नहीं ले रही। इन्हीं परेशानीयों के बीच में अभी लंबी लड़ाई के बाद सिंध जल आवर्धन योजना में तेजी आई है। इस तेजी के चलते प्रशासन ने 10 दिन में सिंध के पानी को सतनवाड़ा तक लाने का आश्वाशन दिया है। इस तेजी से चलते काम को देखते हुए शहर की पब्लिक ने कुछ राहत की सांस ली है। और आज प्रशासन का ध्यान इस महती योजना से भगवान न हटाए इस लिए पब्लिक पार्लियामेंट ने बाईकों से सिंध से पानी लाकर शिवजी का अभिषेक कर प्रशासन को सदबुद्धि देने की प्रार्थना की है। 

बहु प्रतिक्षित जलावर्धन योजना में आ रहे व्यवधानों और शासन-प्रशासन के आश्वासनों से त्रस्त होकर वर्ष 2015 में स्थागित जलक्रांति का आज पब्लिक पार्लियामेंट आप और हम के नेतृत्व में पुन: आगाज किया गया है। जहां सैैकड़ों की संख्या में मौजूद शहर वासियों ने तात्याटोपे शहीद स्मारक से सिंध जल आह्वान यात्रा निकाली और मडीखेड़ा डेम पहुंचे। जहां सिंध का पानी भरकर सिद्धेश्वर मंदिर में पहुंचकर भगवान शिव का अभिषेक किया और शासन प्रशासन व परियोजना के ठेकेदार को सदबुद्धि देने और इस योजना में किसी तरह का व्यवधान न आकर परियोजना जल्द पूर्र्ण होने की भगवान से कामना की। 

इस दौरान जल आह्वान यात्रा का ओम नम:शिवाय मिशन कत्थामिल पर जोरदार स्वागत किया गया वहीं सतनवाड़ा पर सनरार्ईज कॉलेज द्वारा पेयजल और चाय का वितरण किया गया वहीं मड़ीखेड़ा डेम पर मौजूद लोगों को भोजन कराया। इसके पश्चात जल भर कर यात्रा में शामिल लोग वापस शिवपुरी आए। 

यात्रा में 12 कार और एक सैकड़ा से अधिक बार्ईकों पर सवार युवक शामिल थे जिनका जोश देखने लायक था। इस दौरान युवा सिंध का पानी लाना शिवपुरी बचाना है के नारे लगा रहे थे। 

जानकारी के अनुसार सुबह सात बजे राजेश्वरी रोड़ शहीद तात्याटोपे स्मारक पर पब्लिक पार्लियामेंट आप और हम के आह्वान पर सैकड़ों युवक सिंध जल आह्वान यात्रा में शामिल होने के लिए पहुंचे जहां सबसे पहले शहीद तात्याटोपे को पुष्पांजलि अर्पित की और गगन भेदी नारे लगाकर यात्रा जोशीला आगाज किया। यात्रा अस्पताल चौराहे से होती हुई माधव चौक, कमलागंज से सतनवाड़ा मड़ीखेड़ा डेम के लिए रवाना हुई। जहां जगह-जगह यात्रा का शहर वासियों जोशीले अंदाज में स्वागत किया।

सतनवाड़ा से निकल कर यात्रा में शामिल युवाओं की टोलियां ने बिछाई गर्ई पार्ईप लार्ईन का भी निरीक्षण किया और इंटेक बैल पर पहुंचकर दोशियान कंपनी के प्रोजेक्ट मैनेजर श्री विजयवर्गीय से कार्र्य की प्रगति और सतनवाड़ा तक पानी पहुंचाने की कार्र्य योजना की जानकारी ली और इंटेकबैल में अंदर जाकर वहां की स्थिति की जायजा लिया। इसके पश्चात सिंध नदी से जल भरकर सिंध नदी के जयकारे लगाते हुए शिवपुरी रवाना हुए जहां कमलागंज में संजय आजाद और उनके सहयोगियों ने जीवन दायनी सिंध नदी के पवित्र जल पूजन किया और यात्रा में शामिल युवाओं पर पुष्प वर्र्षा की। इसके पश्चात यात्रा सिद्धेश्वर मंदिर पर पहुंची जहां भगवान शिव का सिंध के जल से विधिवत मंत्रोच्चारण के साथ जलाभिषेक किया। 

अब आश्वासन नहीं सिंध का पानी चाहिए
पब्लिक पार्लियामेंट आप और हम के आह्वान पर आज सिंध जल आह्वान यात्रा मड़ीखेड़ा डेम पर पहुंची जहां मौजूद सैकड़ों लोगों को पब्लिक पार्लियामेंट के सदस्य प्रमोद मिश्रा ने संबोधित करते हुए कहा कि वर्र्ष 2015 में जलक्रांति शुरू की गर्ई थी जो 25 दिनों तक चली। इस दौरान शहर के एक-एक व्यक्ति ने अपना सहयोग दिया और उसका परिणाम यह हुआ कि उन 25 दिनों की क्रांति ने भोपाल और दिल्ली तक हलचल मचा दी। जहां प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 6 माह में योजना का कार्य पूर्ण होने और सिंध का पानी शिवपुरी आने का आश्वासन दिया। 

लेकिन मुख्यमंत्री के आश्वासन को दो साल बीतने को हो गए लेकिन आज भी सिंध जलावर्धन योजना का कार्र्य पूर्ण नहीं हो सका। इसलिए जलक्रांति का पुन: आगाज किया गया है। इस बार आर या पार की लड़ाई लड़ी जाएगी और कोई भी आश्वासन नहीं माना जाएगा और क्रांति जब तक चलेगी तब तक सिंध का पानी शिवपुरी नहीं आ जाएगा। इस दौरान पब्लिक पार्लियामेंट के सदस्य उमेश शर्मा, लखन पाण्डे, शिवा पाराशर सहित अनेकों सदस्यों ने अपनी बात रखी। 

10 दिन में सतनवाड़ा पहुंचेगा पानी: विजयवर्गीय
सिंध जल आह्वान यात्रा के मड़ीखेड़ा पहुंचने पर यात्रा में शामिल पब्लिक पार्लियामेंट के सदस्यों ने इंटेकबैल में पहुंचकर योजना की प्रगति और आ रही अड़चनों को लेकर दोशियान कंपनी के प्रोजेक्ट मैनेजर श्री विजयवर्गीय से सवाल जवाब किए जिस पर श्री विजयवर्र्गीय ने पब्लिक पार्लियामेंट को बताया कि एक पैनल आना शेष है वहीं नेशनल पार्क के कुछ क्षेत्र में पाईप लार्ईन डाली जानी है। 

इस प्रक्रिया को पूर्र्ण करने में दस दिन लगेंगे औैर यह पूर्र्ण होते ही इंटेकबैल से पानी छोड़ दिया जाएगा जहां सतनवाड़ा फिल्टर प्लांट तक पानी पहुंचने की पूरी संभावना है। श्री विजयवर्र्गीय ने चर्र्चा के दौरान इंटेकबैल में नीचे ले जाकर इंटेकबैल का निरीक्षण भी कराया वहीं उन्हें कार्र्य के दौरान किन-किन परेशानियों का सामना करना पड़ा यह भी बताया। उन्होंने श्री विजयवर्गीय ने कहा कि काम बहुत तीव्रगति से चल रहा है। उनकी आह्वान यात्रा और भगवान शिव के आशीर्वाद से जल्द ही उनकी कंपनी लगा कलंक मिट जाएगा।