करैरा के दरोगा की बेटी को सिपाही ने छत से फैंका

भोपाल। शिवपुरी जिले के करैरा थाने में पदस्थ एएसआई रतिराम सिंह की 22 वर्षीय बेटी रेनू को उसके पति एवं मप्र पुलिस में सिपाही देवेन्द्र जाटव ने ग्वालियर में अपने घर की छत से नीचे फैंक दिया। मामला दहेज प्रताड़ना का है। बताया जा रहा है कि देवेन्द्र को दहेज में बैगनआर कार मिली थी लेकिन वो स्विफ्ट की मांग कर रहा था। इसी के चलते पति देवेन्द्र ने यह घातक हमला किया। छत से फैकने के बाद आरोपी घायल पत्नी को लेकर मुरार निजी अस्पताल पहुंचा। सोमवार सुबह युवती के पिता परिवार सहित पहुंचे। साथ ही थाटीपुर थाने को सूचना दी। उन्होंने दामाद सिपाही, बेटी की सास व ननद टिंकल पर हत्या के प्रयास, दहेज प्रताड़ना का आरोप लगाया है। पुलिस ने हत्या के प्रयास का मामला दर्ज कर लिया है।

थाटीपुर नदीपार टाल निवासी रतिराम सिंह पुलिस में थानेदार हैं। अभी वह शिवपुरी के करैरा में पदस्थ हैं। उन्होंने अपनी बेटी रेनू (22) की शादी, थाटीपुर पुलिस चौकी के पास निवासी देवेन्द्र जाटव के साथ तय की थी। देवेन्द्र भी पुलिस में सिपाही है और अभी सिंगरौली में पदस्थ हैं। मार्च 2017 में बेटी की शादी बड़े ही धूमधाम से की। शादी में 15 से 20 लाख रुपए खर्च किया और दामाद को वैगनआर कार उपहार में दी थी। पर शादी के कुछ दिन बाद ही उन्हें पता लगा कि दामाद को शादी में स्विफ्ट कार चाहिए थी। जिसके लिए वह रेनू को परेशान करने लगा।

जब रेनू ने इस दहेज की मांग का विरोध किया तो देवेन्द्र, उसकी मां व बहन टिंकल ने उसके साथ कई बार मारपीट की। घटना से दो दिन पहले शुक्रवार को रेनू ने पिता को मोबाइल पर बताया था कि शादी के तीन महीने में वह काफी परेशान हो गई है। आए दिन उसे गाली गलोज कर पीटा जाता है। पति को स्विफ्ट कार चाहिए। जिस समय वह पिता से बात कर रही थी। पति घर आ गया और उसने मोबाइल तोड़ दिया।

पीटते हुए छत पर ले गए और नीचे फेंक दिया
रविवार-सोमवार दरमियानी रात 2 बजे सिपाही देवेन्द्र, उसकी मां और बहन टिंकल, दहेज की मांग पूरी न होने से गुस्से में उसे पीटते हुए घर की दूसरी मंजिल की छत पर ले गए। यहां से छज्जे पर लाए और नीचे फेंक दिया। महिला के नीचे गिरते ही तेज आवाज हुई।

आसपास के लोग एकत्रित हो गए। घटना के बाद आरोपी का परिवार घायल रेनू को लेकर मुरार बारादरी चौराहा स्थित निजी अस्पताल पहुंचे। हालत नाजुक होने पर उसे आईसीयू में भर्ती किया गया। सोमवार सुबह थानेदार रतिरात को घटना का पता पड़ोसियों से लगा। वह अस्पताल पहुंचे तो आरोपी व उसका परिवार गायब हो गया। उन्होंने तत्काल थाटीपुर थाने में सूचना दी।

शाम को आया होश सुनाई कहानी
थानेदार रतिराम ने बताया कि सोमवार शाम बेटी को होश आया तो उन्होंने थाटीपुर थाना पुलिस को मौके पर बुलाकर बयान कराए हैं। नवविवाहिता ने अपने साथ घटी पूरी घटना पुलिस को बताई। जिसके बाद थाटीपुर थाना पुलिस ने सिपाही, उसकी मां व बहन पर दहेज प्रताड़ना व हत्या के प्रयास का मामला दर्ज कर लिया है।
SHARE
    Your Comment

खबरें आपके ईमेल पर: यहां दर्ज करें

NATIONAL NEWS