Tuesday, May 30, 2017

काम में रूचि नहीं लेने वाले संविदाकर्मी और रोजगार सहायकों की सेवाएं समाप्त होंगी: कलेक्टर

शिवपुरी। कलेक्टर श्रीवास्तव ने निर्माण कार्य पर मजदूरों की कम संख्या पर नाराजगी व्यक्त करते हुए निर्देश दिए कि ऐसे संविदाकर्मी एवं रोजगार सहायक जो अपने कार्य के प्रति रूचि नहीं ले रहे है। उनको नोटिस न देते हुए सीधे एक माह का अग्रिम वेतन देकर सेवा समाप्त करने की कार्यवाही करें। यह बात आज कलेक्टर ने करैरा में आयोजित अधिकारी और कर्मचारीयों की बैठक में कही।

साथ ही कहा कि ऐसे रोजगार सहायक एवं सचिव या उपयंत्री भी जो काम नहीं कर रहे हैं, उनको भी ‘‘नो वर्क, नो पे’’ मानकर छह माह का वेतन राजसात करने की कार्यवाही करें। श्री श्रीवास्तव ने जनपद पंचायत करैरा के तहत 09 ग्राम पंचायतों की जिले के अधिकारियों के द्वारा रेण्डम जांच कराई गई, जिसमें ग्राम पंचायत सिलारपुर, कालीपहाड़ी, टीला, पडौरा, छितीपुर, कुमरौआ, कुचलौन, बैसोराकला, चिनोद, मूंगावली है, इन ग्रामों की समीक्षा के दौरान दल प्रभारियों द्वारा बताया कि प्रत्येक ग्राम में मजदूरों की संख्या काफी कम पाई गई है।

ग्राम पंचायत टीला में पिछले वर्ष का तालाब गहरीकरण का कार्य अभी तक पूर्ण नहीं करने पर उपयंत्री श्रीनिवास को 15 जून तक काम पूर्ण करने के निर्देश दिए और कहा कि गत वर्ष का किसी भी पंचायत में कार्य शेष न रहे। 

प्रत्येक गांव में रोजगार मूलक कार्य चालू रहें
बैठक में जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी नीतू माथुर ने कहा कि वारिस से पूर्व गहरीकरण का कार्य हर हाल में पूर्ण कर लिया जाए। प्रत्येक ग्राम में कम से कम 50 से 60 मजदूरों का काम आवश्यक रूप से मिले। 

इसके लिए गांव में पर्याप्त संख्या में रोजगार मूलक कार्य संचालित हो। ग्राम पंचायत कुचलौन में मजदूरों की संख्या 05 के स्थान पर 10 मजदूर काम करते पाए जाने पर सचिव अरविंद यादव एवं रोजगार सहायक सुदामा शर्मा को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। 

उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि अभी मजदूरों के पास कोई काम न होने के कारण ऐसी स्थिति में मजदूरो को काम आवश्यक रूप से मिले यह सुनिश्चित करें। ग्राम उकायला में घटिया शौचालय पाए जाने पर कार्यवाही करने के निर्देश दिए। 

मनरेगा में लापरवाही बरते जाने पर 07 सचिवों एवं रोजगार सहायकों को नोटिस
करैरा अनुविभागीय दण्डाधिकारी एवं सीईओ सीपी प्रसाद ने जॉबकार्ड सत्यापन एवं एसईसीसी मैपिंग के कार्य में लापरवाही बरतने एवं रूचि न लेने पर 07 ग्राम पंचायतों के सचिवों एवं रोजगार सहायकों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। 

जिसमें ग्राम पंचायत डुमघना के रोजगार सहायक मनीराम जाटव, टीला के सचिव सुनील, सिलानगर के रोजगार सहायक बीरवल कुशवाह, ग्राम नारही के रोजगार सहायक आशीष ठाकुर, ग्राम बगेधरी अव्वल के रोजगार सहायक विजय सिंह जाटव, ग्राम सिरसौद के रोजगार सहायक दिनेश नागर एवं ग्राम दावरदेही के रोजगार सहायक नीलेश यादव शामिल है।