Wednesday, May 31, 2017

नौकरी के बदले यौन शोषण कर रहा था शिक्षक, इसलिए की आत्महत्या

शिवपुरी। इंदार थाना क्षेत्र के ग्राम खतौरा में बीती 3 मई को अतिथि शिक्षक सपना यादव की आत्महत्या मामले में पुलिस ने जांच के बाद भाजपा के पूर्व जिला उपाध्यक्ष भगवत सिंह यादव के शिक्षक पुत्र पर आत्महत्या उत्प्रेरण का मामला दर्ज कर लिया है। जांच में स्पष्ट हुआ है कि आरोपी शिक्षक मृतका की नौकरी लगवाने में मदद की और उससे उसकी पूरी कीमत वसूल कर रहा था। लगातार शारिरिक सबंध बनाए और ऑपरेशन कराने के विवश कर रहा था। इस कारण मृतका फांसी पर झूल गई थी। 

बताया जा रहा है कि  कि 3 मई की रात्रि ग्राम इमलावदी में अतिथि शिक्षक के रूप में पदस्थ सपना यादव ने भाजपा के पूर्व जिला उपाध्यक्ष भगवत सिंह यादव के शिक्षक पुत्र अनिल यादव के गोदाम में फांसी लगाकर आत्म हत्या कर ली थी। उस समय पुलिस मामले को संदिग्ध मान रही थी और मौके पर एफ एसएल टीम ने भी जांच की थी। वहीं मृतका के परिजनों ने आरोपी अनिल और उसके परिवारजनों पर हत्या करने का आरोप लगाया था। जिसकी जांच की गई तो ज्ञात हुआ कि आरोपी अनिल यादव और मृतका इमलाबदी में पढ़ाने के लिए जाते थे। सपना की नौकरी भी आरोपी की कृपा से लगी थी। 

आरोपी ने मृतका को पढ़ाया भी है। सपना की नौकरी लगवाने का पूरा फायदा शिक्षक अनिल वसूल रहा था। या यू कह लो कि रिश्वत में शिक्षिका का जिस्म बसूल रहा था आरोपी। नौकरी के बदले मृतिका भी अनिल के ऊपर पूरी मेहरवान हो गई थी। पिछले कई समय से मृतिका और अरोपी के बीच शारिरिक संबध बन गए थे। 

सूत्रो कि माने तो मृतका को लगातार शिक्षक अनिल यादव शादी के वादे कर रहा था और शर्त रख रहा था कि शादी करने से पूर्व उसको ऑपरेशन करना होगा। इसके बाद ही शादी होगी, अनिल की पहली बीबी से भी बच्चे है इस कारण आरोपी अपनी प्रेमिका से बच्चे नही चाह रहा था लेकिन मृतका ने ऑपरेशन नहीं कराया तो आरोपी ने उससे संबंध तोड़ दिए। जिससे वह काफी परेशान हो गर्ई और घटना से दो दिन पूर्व खतौरा पहुंची। जहां आरोपी से उसका विवाद भी हुआ। इसके बाद वह वापस आ गई, लेकिन घटना बाले दिन वह पुन: खतौरा पहुंची और आरोपी के गोदाम में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।