Tuesday, May 30, 2017

ऑनलाईन बिक्री के विरोध में मेडीकल बंद: दवाओं के लिए चक्कर लगाते रहे मरीज

शिवपुरी। दवाओं की ऑनलाईन बिक्री को लेकर ऑल इंडिया ऑर्गेनाईजेशन ऑफ केमिस्ट एण्ड ड्रगिस्टस्(एआईओसीडी) दवा विक्रेताओं द्वारा देशव्यापी भारत बंद के आह्वान के तहत शिवपुरी में भी सभी मेडीकल दुकानदारों ने अपने.अपने प्रतिष्ठान बंद रख इस महाबंद को समथर्न दिया और ऑनलाईन दवा बिक्री का विरोध किया और रैली निकालकर जिला कलेक्टर को प्रधानमंत्री के नाम अपनी समस्याओं से ओतप्रोत ज्ञापन सौंपा गया। इन मेंडिकलों के बंद हो जाने से आज मरीज परेशान होते दिखाई दिए। हांलाकि गंभीर मरीजों के लिए सौम्या मेडीकल खुला रहा और मरीजों को जरूरतमंद दबाईयां मिलती रही। 

जिला दवा विक्रेता एसोसिएशन के अध्यक्ष मोहनचंद गुप्ता व सचिव डॉ.सी.पी. गोयल ने बताया कि ऑनलाईन दवा की बिक्री का समस्त भारत के दवा विक्रेता विरोध दर्ज कर रहे है ऑनलाईन दवा मिलने से जहां युवाओं में नशे की प्रवृत्ति का विकार होगा, तो वहीं मरीजों के स्वास्थ्य एवं दवा की गुणवत्ता से खिलवाड़ की संभावना को भी बल मिलेगा, इसके अतिरिक्त ग्रामीण भारत में जीवन रक्षक दवाओ का अभाव होगा।

8 लाख केमिस्ट व 50 लाख कर्मचारी इस ऑनलाईन दवा बिक्री से प्रभावित होगें, दवा मूल्य नियंत्रण नीति में केमिस्टों का शोषणा स्वीकार नहीं किया जाए, इमरजेंसी या अत्यावश्यक दवा की उपलब्धता सुनिश्चित करना आवश्यक होता है किन्तु लोक सूचना में खरीदी को (ई-पोर्टल) पर अपलोड करने के बाद बिक्री बिल अपलोड का प्रावधान कदापि व्यवहारिक नहीं है।

इसमें होने वाले विलंब से मरीज को होने वाले खतरे से इंकार नहीं किया जा सकता, आम केमिस्ट की बिक्री बहुत कम होने के कारण नए नियमों का पालन करना संभव नहीं है ऐेसे नियम बुनियादी ढांचे से निवेश करने के साथ-साथ प्रत्येक पर्चे पर ई पोर्टल द्वारा अधिकतम 200 रूपये चार्ज लिया जाएगा जो कि केमिस्ट पर अतिरिक्त वित्तीय बोझ भी है जो कि आम केमिस्ट के बस की बात नहीं है।

इस स्थिति में छोटे दवा विक्रेता को लायसेंस सरेंडर करने को बाध्य होना पड़ेगा। दवा विक्रेताओं ने अपनी इन्हीं सब मांगों को लेकर इस देशव्यापी महाबंद का आह्वान किया और इसे हरेक दुकानदार ने समर्थन प्रदान किया। ज्ञापन से पूर्व सभी केमिस्ट एवं ड्रगिस्ट होटल पीएस पर एकत्रित हुए और अस्पताल चौराहे से रैली निकालकर कलेक्ट्रेट पहुंचे। 

यहां कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा गया। इस रैली व ज्ञापन में एक सैकड़ा से अधिक मेडीकल दुकानदार व थोक दवा विक्रेता शामिल रहे जिन्होंने मिलकर इस महाबंद में अपना योगदान दिया। 

इमरजेंस हालातों में खुली रही सौम्या मेडीकल स्टोर दवा विक्रेता एसोसिएशन के अध्यक्ष मोहनचंद व डॉ.सीपी गोयल ने बताया कि संपूर्ण देश और प्रदेश भर के साथ शिवपुरी में भी दवा की दुकानें बंद रहीं लेकिन स्वास्थ्य से जुड़ी इस गंभीर समस्या को नजर अंदाज भी नहीं किया जा सकता था, इसके फ लस्वरूप इमरजेंसी हालातों में सौम्य मेडीकल स्टोर अस्पताल चौराहे की दुकान पूरे दिन भर खुली रही जिससे मरीजों को अपने रोग से संबंधित दवा उपलब्ध कराई गई। यहां सभी जन सामान्य को अपनी आवश्यक दवाऐं उपलब्ध हो हुई।