Tuesday, February 14, 2017

जनसुनवाई: रेडलाईट ऐरिया की महिलाओ ने कहा पुलिस हिस्सा मांगती है, मारपीट करती है

शिवपुरी। पुरानी शिवपुरी स्थित रेडलाईट ऐरिया में निवास कर रही बेडिय़ा जाति की महिलाओं ने आज जनसुनवाई में पहुचकर देहात थाना पुलिस के खिलाफ मारपीट के आरोपी लगाते हुए कार्यवाही की मांग की है। वही अतिरिक्त कलेक्टर श्रीमती नीतू माथुर ने बेडिय़ा महिलाओं से कहा कि यदि वह रोजगार करना चाहती है तो उन्हें रोजगारोन्मुखी प्रशिक्षण दिलाया जाएगा। 

जनसुनवाई में निर्मला पत्नि सुरेश बेडिय़ा, सितारा, आरजू, नीलम, सुमन, मीना, सुनीता, सोनी, गुंजन आदि महिलाओं ने अपनी फरियाद बखान करते हुए कहा कि पुलिस आए दिन उनके घर पर छापा डालती है। 

बच्चों, लड़कियों और महिलाओं को घर के बाहर निकाल कर उन्हें नंगा कर मारती पीटती है तथा कहती है कि यहां से घर खाली कर चले जाओ, लेकिन हम अपने माँ-बाप के घर को छोडक़र कहां जाएं और क्या करें। महिलायें और लड़कियां पढ़ी लिखी नहीं है। 

कुछ बच्चे पढ़े भी है तो उन्हें रोजगार नहीं मिलता ऐसी स्थिति में हम करें तो क्या करें। इस पर अतिरिक्त कलेक्टर श्रीमती नीतू माथुर ने उन्हें आश्वासन दिया कि यदि वह रोजगार करना चाहेंगी तो उन्हें शासन द्वारा प्रशिक्षण दिया जाएगा। 

आवेदन में महिलाओ ने कहा कि देहात थाना पुलिस के टीआई संजीव तिवारी अपने स्टाफ के साथ बीते रोज हमारे मोहल्ले में पहुंचे और कहने लगे की आजकल तुम बहुत धंधा कर रही हो, हमारा हिस्सा देने में क्या जाता है, यह कहते हुए हमारी मारपीट कर दी। महिलाओ ने एक साथ कहा कि हमारी मारपीट करने वाले पुलिस कर्मियो पर कार्यवाही होनी चाहिए।

गंदे धंधे को छोड़ो और करो सम्मान जनक रोजगार
अतिरिक्त कलेक्टर श्रीमती नीतू माथुर ने उन्हें ज्ञापन देने आई बेडिय़ा जाति की महिलाओं को समझाईश देते हुए कहा कि उनके समाज की महिलाओं पर देह व्यापार में लिप्त होने के आरोप है। समाज में स मानजनक ढंग से जीने के लिए उन्हें अपनी इस कुप्रथा को तिलांजली देनी होगी और यदि वह स मानजनक व्यवसाय करना चाहती है तो उन्हें प्रशिक्षण के साथ-साथ रोजगार भी दिलाया जाएगा।