Friday, February 10, 2017

सरकारी खबर: इस ट्रासंफर की चर्चा प्रशासनिक गलियारों में....

शिवपुरी। प्रभारी कलेक्टर नेहा मारब्या ने करैरा एसडीएम एमसीबी प्रसाद को करैरा एसडीएम के पद से हटाकर शिवपुरी अटैच कर दिया गया। प्रभारी कलेक्टर की इस कार्रवाई से प्रशासनिक गलियारों में चर्चा है कि ऐसा रेत माफियाओं के दबाब के कारण ऐसा किया गया है। 

जैसा कि विदित है कि करैरा एसडीएम प्रसाद ने रेत माफियाओं पर कडी कार्यवाई की थी,नरवर तहसील के ग्राम सीहोर स्थित खदान पर अवैध् उत्खनन में लिप्त 18 ड फरों को जप्त कर सीहोर थाने में रख दिए थे। 

इन डंफरों से शासन को लाखों रूपये का राजस्व भी बसूल किया गया। लेकिन ऊँची पहुँच वाले अवैध कारोबार में लिप्त ड फर मालिकों ने एस डी एम प्रसाद को हटवाने में सफल रहे। खबर यह भी आ रही है कि जिले के रेत कारोबारियों का मंत्री स्तर के भाजपा नेताओ से इस धंधे में साईलैंट पार्टनर शिप है। 

और करैरा क्षेत्र रेत के अवैध कारोबार के लिए कुख्यात है। इन रेत माफियों पर कार्रवाई प्रशासनिक अधिकारियों को महंगी पड़ती नजर आ रही है। यहाँ जो रेत माफियों सहित अवैध कार्य में लिप्त लोगों से समझौता कर चलता है वहीं पद पर रह सकता है। बिना किसी कारण से इस ट्रांसफर की दबी जुबान में चर्चा है।