Thursday, February 09, 2017

शिवपुरी से ही की जा रही थी रैकी, बदरवास के बाद मारी सिपाही को गोली

शिवपुरी। बीते रोज गुना के बदमाश लोकेश को पुलिस अभिरक्षा से छुड़ाने के खातिर बदमाशों ने आरक्षक को गोली मार दी, जिससे उसकी मौत हो गई। इस मामले में गुना की पुलिस ने आरक्षक को गोली मारने वाले बदमाशों की पहचान कर उनकी तलाश शुरू कर दी। 

बताया गया है कि सुभाषपुरा थाना क्षेत्र में हुई लूट की वरदात को अंजाम देने वाले गुना के बदमाश लोकेश को गुना पुलिस मंगलवार को जब शिवपुरी न्यायालय में पेशी पर लाई थी। तभी से उसके साथ रैकी कर रहे थे। पेशी पर साथ आए दूसरे आरक्षक ने बताया कि जिन बदमाशों ने सिपाही में गोली मारी, वे बीच रास्ते में बस में यात्री बनकर चढे थे। 

बताया जा रहा है कि लोकेश को शिवपुरी पेशी पर लाया गया था उसकी आधा दर्जन साथी रैकी कर रहे थे। इधर खबर यह भी आ रही है कि गुना और बदरवास पुलिस ने इन फरार बदमाशों की तलाश में बदरवास थाना अंतर्गत एनवारा के जंगल में की जा रही है। इतना ही नही एनवारा के एक घर में बुधवार की सुबह जब पुलिस ने दबिश दी तो कुछ बदमाश पीछे के रास्ते से जंगल में समा गए। 

बताया जा रहा है कि गुना के बदमाश को लोकेश को शिवपुरी न्यायालय में लूट के जिस मामले में पेशी पर लाया गया, उसमें लोकेश के साथ बारदात को अंजाम देने वाले दो अन्य साथियों की जमानत हो चुकी है तथा वे शिवपुरी मेें कोर्ट परिसर में उससे मिलने भी आए थे। 

बदमाश लोकेश को पेशी पर लाई पुलिस टीम के एक आरक्षक ने बताया कि जब हम पेशी कराकर बस में सवार हुए,तब वे मोबाईल पर बात कर रहे थे। इसके बाद बस बदरवास की सीमा के पार भदौरा गांव पर पहुंची तो वहां से दो युवक बस में सवार हुए। दोनो युवक लोकेश की पीछे वाली सीट पर बैठे थे। और लगातार अपने साथियों को बस की लोकेशन दे रहे थे।

जैसे ही बस पाटई पर पहुंची दोनो युवक पीछे की सीट से उठे और आगे आकर आरक्षक अशोक कुरैती के माथे पर अपना कट्टा रख दिया और सीधे गोली मार दी। आरक्षक को गोली इस कारण मारी गई की लोकेश की हथकडी मृतक आरक्षक के बैल्ट में फंसी थी। लोकेश से अपनी हथकड़ी घायल आरक्षक के बैैैैल्ट से खुली नही, जिस कारण ही लोकेश भाग नही पाया। और बस ड्रायवर ने भी गाडी स्पीड तेज कर दी और गुना आकर रोकी। गुना पहुंचने तक आरक्षक की मौत हो गई।