Tuesday, February 14, 2017

दंगल: झांसी के बालमुकुंद ने जीता फाईनल, ज्योति और रेणू के बीच रही बराबर की टक्कर

शिवपुरी। तात्याटोपे ग्राउण्ड में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय दंगल प्रतियोगिता के फाईनल मुकाबले में संदीप राणा महाराष्ट्र को झांसी के बालमुकुन्द यादव ने फाईनल मुकाबाले में पराजित कर 51000 रूपए के प्रथम पुरूस्कार एवं शील्ड पर कब्जा कर लिया। वहीं गाजियाबाद की ज्योति पहलवान का मुकावला कन्नौज की रेणू पहलवान से हुआ 30 मिनिट तक चले इस मुकाबले में बिना हार जीत के बराबरी पर मुकाबला छोड़ दिया गया। 

आज तीसरे रोज हुयीं कुश्तियों से पूर्व शिवपुरी कोलारस नगर पंचायत के अध्यक्ष रविन्द्र शिवहरे एवं नगर पाकिला शिवपुरी के उपाध्यक्ष अनिल शर्मा अन्नी द्वारा दंगल में पधारे पहलवानों से परिचय प्राप्त कर माल्यार्पण कर स्वागत किया। इस अवसर पर शहर अध्यक्ष सिद्धार्थ लढ़ा, आलोक शुक्ला, राजू जैन  तदुपरांत पहलवानों के हाथ मिलवाकर दंगल का शुभारंभ किया। 

आज के रोज मेरठ के मोनू पहलवान एवं अयोध्या के बजरंगी पहलवान के बीच मुकाबला हुआ। जिसमें बजरंगी पहलवान विजयी हुए। वहीं दूसरे मुकाबला काठमाण्डू नेपाल के राजू पहलवान एवं झांझर राजस्थान के बल्लू पहलवान के बीच मुकाबला जिसमें राजू पहलवान विजयी रहे। तीसरा मुकाबला विक्की पहलवान दिल्ली, बग्गा पहलवान राजस्थान के बीच हुआ जिसमें विक्की पहलवान ने विजय हांसिल की। 

पुलिस ने जमकर चलाई लाठियां 
तात्याटोपे प्रांगण में आयोजित दंगल को देखने के लिए जहां शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्रों के हजारों दर्शकों ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराकर दंगल का आनंद उठाया। जिसके लिए नगर पालिका प्रशासन द्वारा पुलिस व्यवस्था भी की गर्ई थी। हजारों की ाीड़ को नियंत्रित करने के उद्देश्य से पुलिस व्यवस्था जमाई गई थी, लेकिन पुलिस की लचर व्यवस्था के चलते भीड़ अनियंत्रित ही रही तथा दंगल के दौरान होहल्ला होता रहा। जिसकी बजह से पुलिस को भीड़ नियंत्रित करने के लिए दर्शकों पर लाठी का भी उपयोग समय-समय पर किया जाता रहा। जिससे दर्शकों में रोश की स्थिति बनी रही। 

दंगल को देखने पेड़ों पर चढ़े दर्शक, डाली टूटी
तात्याटोपे प्रांगण में आयोजित की गई दंगल प्रतियोगिता में हजारों की सं या में उपस्थित दर्शकों को जब कुश्ती लडऩे पहलवान नहीं दिखाई दे रहे थे। तब उन्होंने पेड़ों तथा बाउण्ड्रीबॉल पर चढक़र दंगल को देखने लगे। एक पेड़ की डाल पर अधिक दर्शक बैठ जाने से पेड़ की डाली अचानक टूट गई। जिससे उस पर बैठे दर्शक जमीन पर आ गिरे।