Monday, February 06, 2017

कर्नल ढिल्लन की पुण्यतिथि: लगा मेला, दी गई 11 तोपो की सलामी

शिवपुरी। भारत की आजादी के परमवीर यौद्धा व आजाद हिन्द फ ौज के महानायक, पद्म भूषण एवं कर्नल गुरूव श सिंह ढिल्लन की दसवीं पुण्य तिथि पर आयोजित श्रृद्धांजलि एवं सर्वधर्म प्रार्थना सभा का कार्यक्रम कर्नल जीएस ढिल्लन समाधि स्थल आजाद हिन्द पार्क हातौद में स पन्न हुआ। प्रात: 11:30 बजे समाधि पर पुष्प अर्पित कर श्रृद्धांजलि दी गई। इस मौके पर वक्ताओं ने उनकें व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर प्रकाश डालते हुए देश भक्ति की प्रेरणा लेने का आग्रह किया।  

विधायक प्रहलाद भारती ने सर्वधर्म प्रार्थना सभा को संबोधित करते हुए कहा कि शिवपुरी की धरा धन्य है कि यहां 1857 के वीर क्रांतिकारी अमर शहीद तात्याटोपे की बलिदान भूमि और कर्नल जीएस ढिल्लन की कर्मभूमि के रूप में जानी जाती है। उन्होंने कहा कि कर्नल ढिल्लन आजाद हिन्द फौज के ऐसे सिपाही थे। 

जिन्होंने देश को आजाद कराने में अपना योगदान दिया। उन्होंने कहा कि अपने लिए तो सब जीते है, जो दूसरो के लिए जीते हैए वह कई पीर्टियों तक याद किए जाते है। ऐसे वीर सैनानियों से हमें प्रेरणा लेनी चाहिए। उन्होंने कहा कि हमें अपर शहीद वीर सैनानियों से प्रेरणा लेते हुए हम जिस क्षेत्र में भी कार्य करें उसे पूरी ईमानदारी एवं निष्ठा के साथ करें। जो अमर शहीद सैनानियों को सच्ची श्रद्धांजलि होगी। 

प्रभारी कलेक्टर एवं जिला पंचायत की मु य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती नेहा मारव्या ने कर्नल ढिल्लन को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि उनका व्यक्तित्व विशाल था। देश को आजादी दिलाने में दिए गए योगदान के लिए हम सभी उनके आभारी है। 

इस अवसर पर सिंधिया कन्या स्कूल ग्वालियर, हैप्पीडेज स्कूल शिवपुरी एवं वैशाली पब्लिक स्कूल के छात्र-छात्राओं द्वारा देशभक्ति पर केन्द्रित कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी। इस अवसर पर स्व: ढिल्लन को 11 तोपो की सलामी भी दी गई। कार्यक्रम में स्व: ढिल्लन के बेटे श्री सवरजीत सिंह ढिल्लन ने श्रृद्धांजलि देते हुए कहा कि उनके पिता की सैन्य नीति की अंग्रेजो ने भी सराहना की। उन्होंने इस मौके पर स्व:ढिल्लन की कविताओं को भी पढक़र सुनाया और अंत में सभी के प्रति आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम का संचालन आदित्य शिवपुरी एवं गिरीश मिश्रा ने किया।