सिंधिया के होर्डिंग को लेकर समर्थक भिड़े, विधायक पुत्र ने जिपं. सदस्य की गाडी तोड़ी

शिवपुरी। आम जन की समस्या को लेकर कांगेसी चाहे संघर्ष नहीं कर रहे हो, लेकिन एक कांग्रेसी द्वारा इस कलयुग में भगवान जैसे भोग लगाकर सिंधिया को महाराज से भगवान बना दिया है। अब इन्ही भगवान के बेनर को लगाने को लेकर करैरा में विवाद हो गया है। बताया गया है कि इस बैनर में इनके एक भक्त ने दूसरे भक्त की गाडी को चकनाचूर कर दिया है। 

जानकारी आ रही है कि आज स्थानीय सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के करैरा आगमन से पूर्र्व रात्रि में उनके समर्थकों द्वारा चौराहों पर पोस्टर बैनर लगाए जाने को लेकर जिला पंचायत सदस्य दिनेश परिहार और करैरा विधायक शकुंतला खटीक के पुत्र दीपू खटीक के बीच विवाद हो गया। 

आरोप है कि इस घटना में विधायक पुत्र और उनके समर्थकों ने मिलकर दिनेश परिहार की कार भी तोड़ दी। यहां तक की पुलिस ने भी दिनेश परिहार की नहीं सुनी और उसके द्वारा शिकायत किए जाने पर भी कोई कार्रवाई नहीं की जबकि स्थानीय विधायक शकुंतला खटीक के एक समर्थक सलमान द्वारा दिनेश परिहार की शिकायत आवेदन देकर की। जिसे पुलिस ने संज्ञान में ले लिया है। 

जिला पंचायत सदस्य दिनेश परिहार ने जानकारी देते हुए बताया कि रात्रि करीब 11:30 बजे कस्बे में सांसद सिंधिया के स्वागत के लिए उनके द्वारा पुलिस सहायता केन्द्र के पास होर्डिंग लगाया जा रहा था तभी कपिल खटीक और विधायक पुत्र दीपू खटीक अपने समर्थकों के साथ वहां आया और उनके समर्थक उमेश परिहार और सलीम सहित बैनर लगा रहे मजदूरों की मारपीट कर दी।

बाद में जब उन्हें घटना की जानकारी लगी तो वह थाने पहुंचे और करैरा टीआई को घटना के बारे में बताया। लेकिन पुलिस ने उनकी सुनवाई नहीं की। तो वह मौके पर पहुंचे जहां दीपू ने अपने समर्थकों के साथ मिलकर उनकी गाड़ी पर पथराव किया और डंडे मारकर उनकी गाड़ी के कांच तोड़ दिए। 

जैसे तैसे वह बचकर वहां से भागे इसके बाबजूद भी पुलिस ने उनकी सुनवार्ई नहीं। वहीं विधायक के दवाब में आकर करैरा टीआई ने विधायक पुत्र के समर्थक सलमान की ओर से शिकायती आवेदन ले लिया है। श्री परिहार का कहना है कि घटना उनके साथ घटित हुई है और उनका नुकसान भी हुआ है वह भी इस मामले की शिकायत श्री सिंधिया सहित पुलिस के उच्च अधिकारियों से करेंगे। 

इनका कहना है
रात्रि में होर्डिंग लगाने को लेकर विधायक के समर्थकों और जिला पंचायत सदस्य के बीच विवाद हुआ था और जिला पंचायत सदस्य दिनेश परिहार भी उनके पास आए थे, लेकिन मामला आपसी सहमति से निपट गया था। बाद में  क्या हुआ यह मुझे मालूम नहीं है। हालांकि किसी सलमान नाम के युवक ने उन्हें शिकायती आवेदन दिया है। जिसमें दिनेश परिहार और उनके साथियों की शिकायत की गई है। जिसकी जांच की जा रही है। 
ओपी आर्य टीआई करैरा 
Share on Google Plus

About Bhopal Samachar

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.
-----------