कलेक्टर की करैरा, पिछोर में छापामार कार्रवाई

शिवपुरी। आमजन से जुड़ी शिक्षा, स्वास्थ्य, महिला बाल विकास की योजनाओं की जमीनी हकीकत जानने के लिए कलेक्टर आर.के.जैन ने आज जिले के पिछोर व करैरा अनुभाग का दौरा कर, इन संस्थाओं का आकस्मिक निरीक्षण किया।

कलेक्टर को मैदानी स्तर पर सबकुछ ठीकठाक नहीं मिला, जिसकी अपेक्षा उनके द्वारा की जा रही थी, परिणामास्वरूप उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के आशा कार्यकर्ता, एएनएम को हटाने, शिक्षकों के वेतन काटने, परियोजना अधिकारी को चेतावनी देने के निर्देश दिए है। कलेक्टर आर.के.जैन ने आज ग्रामीण क्षेत्रों में आकस्मिक भ्रमण के दौरान सर्वप्रथम उप स्वास्थ्य केन्द्र सिरसौद के नवनिर्मित भवन का निरीक्षण किया, लेकिन निरीक्षण के दौरान उन्हें उप स्वास्थ्य केन्द्र पर पर्याप्त साफ-सफाई प्राप्त न होने पर अफ सोस के साथ नाराजगी व्यक्त की तथा वहां उपस्थित चिकित्सक को निर्देश दिए कि स्वास्थ्य संस्थाओं की पहली प्राथमिक आवश्यकता उनमें पर्याप्त और आवश्यक सफाई व्यवस्था होना है।

सिरसौद उप स्वास्थ्य केन्द्र पर हो आकस्मिक व्यवस्था, हटाई एएनएम

कलेक्टर ने कहा कि सिरसौद नेशनल हाईवे पर स्थित उप स्वास्थ्य केन्द्र है, जो आकस्मिक घटना-दुघर्टना की स्थिति में सर्वाधिक महत्व रखता है, ऐसे संस्थाओं में सभी आकस्मिक व्यवस्था होना चाहिए। उन्होंने स्वास्थ्य केन्द्र पर दवाईयों के साथ-साथ स्वच्छ पेयजल, गद्दे-कंबल, चादर की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए। श्री जैन ने उपस्वास्थ्य केन्द्र पर पदस्थ ए.एन.एम. के नियमित रूप से उपस्थित न होने की शिकायत पर संबंधित ए.एन.एम. को हटाने के निर्देश मु य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को दिए। इसके बाद उन्होंने हायर सेंकेण्डरी स्कूल सिरसौद का भी अवलोकन किया, विद्यालय में अनुपस्थित शिक्षिका सुश्री प्रियंका गोस्वामी का तीन दिन का वेतन काटने के निर्देश दिए। इसके उपरांत कलेक्टर ने 11वीं कक्षा के बच्चों से शिक्षिका सविता जैन द्वारा पढ़ाये जा रहे अर्थशास्त्र और सां ियकी विषय से संबंधित विषय में कुछ प्रश्न पूछे, जिनमें से किसी का भी जवाब न तो बच्चें और ना ही शिक्षिका स्वयं दे सकी। इस पर कलेक्टर द्वारा नाराजगी व्यक्त कर सविता जैन का तीन दिन का वेतन राजसात करने के निर्देश प्राचार्य श्री एम.पी.एस.यादव को दिए। उन्होंने एम.पी.एस यादव के पास दो विद्यालयों का प्रभार होने पर नाराजगी व्यक्त की तथा श्री यादव को एक विद्यालय के प्रभार से मुक्त करने के निर्देश जिला शिक्षा अधिकारी को दिए तथा श्री यादव को विद्यालय में शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार लाने के निर्देश भी दिए।

आंगनबाड़ी केन्द्रों का किया निरीक्षण

इसके बाद उन्होंने आंगनवाड़ी केन्द्र मनपुरा और उप स्वास्थ्य केन्द्र मनपुरा का निरीक्षण किया। आंगनवाड़ी केन्द्र में 55 बच्चें दर्ज थे, जिनमें से मौके पर 22 बच्चें उपस्थित पाये गए। आंगनवाड़ी में बच्चों को प्रदाय किए जा रहे पोषण आहार की गुणवत्ता ठीक नहीं पाई तथा आंगनवाड़ी कार्यकर्ता द्वारा बच्चों के बजन आदि के संबंध में सही जानकारी नहीं दिये जाने पर तथा परियोजना अधिकारी पिछोर द्वारा आंगनवाड़ी केन्द्रों का निरीक्षण न करने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए परियोजना अधिकारी श्री रतन सिंह वोडेलिया को चेतावनी कि आंगनवाड़ी केन्द्रों की गतिविधियों में सुधार न होने पर उनके खिलाफ कठोर अनुशासनात्मक कार्यवाही की जावेगी। कलेक्टर श्री जैन ने उप स्वास्थ्य केन्द्र मनपुरा में भी पर्याप्त साफ-सफ ाई न होने पर नाराजगी व्यक्त की तथा वहां पदस्थ आशा कार्यकर्ता की कार्यप्रणाली को ठीक न पाये जाने पर सेवा से पृथक करने के निर्देश मु य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को दिए।   

पिछोर में भी किया औचक निरीक्षण

इसके बाद कलेक्टर ने पिछोर जनपद मुख्यालय पर जनपद कार्यालय व परियोजना अधिकारी महिला एवं बाल विकास का भी आकस्मिक निरीक्षण किया, उन्होंने जनपद पंचायत के केशबुक के निरीक्षण के दौरान जनपद के खाते में बैंको में उपलब्ध राशि का प्रेकप प्रस्तुत करने के निर्देश मु य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत को दिए। उन्होंने कहा कि जनपद सभी शासकीय योजनाओं में आवंटित लक्ष्य को समय सीमा में प्राप्त करें। एकीकृत बाल विकास परियोजना के निरीक्षण के दौरान कलेक्टर ने कार्यालय की कार्यप्रणाली, उसके रख रखाव, साफ-सफाई की स्थिति ठीक न पाने पर नाराजगी व्यक्त की तथा उसमें आवश्यक सुधार के निर्देश भी दिए।
Share on Google Plus

About KumarAshish BlogManager

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.

0 comments: