चोरो से एसपी शिवपुरी के पड़ौसी भी नही है सुरक्षित

शिवपुरी। पुलिस अधीक्षक निवास से महज कुछ दूरी पर रहने वाले परिवार चोरों के डर से रात भर जागने को मजबूर हैं। चार दिन के अंदर यहां चार मकानों के ताले टूट गए।

स्थिति यह है कि रात के अंधेरे में हल्की सी आवाज पर घर के लोग उठ जाते हैं। खास बात यह है कि चोरी के मामलों में पुलिस की कार्रवाई रिपोर्ट दर्ज करने तक की सिमट कर रह जाती है। एसपी निवास के पास ही चोर वारदात करने से नहीं चूक रहे हैं तो फिर शहर के अन्य हिस्से में लोग कितना सुरक्षित हैं इसे समझ सकते हैं।

एसपी निवास की बाउंड्री से महज 7 कदम दूर पाटौर में रहने वाले आदिम जाति कल्याण विभाग कार्यालय में पदस्थ भृत्य मांगीलाल आदिवासी के घर चोरों ने 24 जनवरी की रात ताला तोड़कर साइकिल, टीवी, डीवीडी, टीवी स्टेबलाइजर, मोबाइल चार्जर सहित 2 हजार रुपए चोरी कर लिए। अब भृत्य नौकरी पर भी पैदल जा रहा है।

एसपी निवास के पास ही कॉलोनी में किराए का कमरा लेकर रह रहे पटवारी कल्याण ओझा के घर 26 जनवरी की रात को ताला तोड़कर चोर कोट व उसमें रखे पांच सौ रुपए ले गए। पटवारी के कमरे में कागजात अधिक मिले, जो चोरों के काम के नहीं थे। इसी मकान के पास पीएचई में नल खोलने वाले कर्मचारी हजारीलाल सेन की साइकिल भी चोर उठा ले गए। अब ये कर्मचारी भी पैदल ही नल खोलने जा रहा है।

पास में ही ट्रेजरी में पदस्थ बाबू जसराम कुशवाह के नवनिर्मित मकान के भी ताले तोड़कर चोरों ने तलाशी ली। चूंकि कुशवाह का सामान अभी नए मकान में नहीं आया है, इसलिए कोई बड़ा सामान चोरी नहीं गया। इसी कॉलोनी में एसके जादौन के सूने मकान के ताले भी चोरों ने तोड़ दिए।

आसपास का ही होगा शामिल

चोरी में कोई बड़ा सामान नहीं गया है। चंद दिनों में ही इतने ताले टूटे हैं तो चोर कोई आसपास का ही होगा। हम जल्द ही ऐसे चोरों की तलाश करके सुरक्षा का माहौल बनाएंगे। चोरों के भागने के ठिकाने भी मौके पर जाकर देखेंगे। एसकेएस तोमर,एसडीओपी शिवपुरी



Share on Google Plus

About KumarAshish BlogManager

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.

0 comments: